300x250 AD TOP

Followers

Popular Posts

Featured slider

Sunday, 18 March 2012

Tagged under:

ये कैसी जिद







ये कैसी जिद
कि तुमने बाँट दी
जमीन पानी
और हवा
सब कुछ
मानचित्रो में
सजने को ?
और नहीं छोड़ी
इंसानी लाशें भी
बंदरबांट
करने को !
तुम अब खुश
तो बहुत होगे,
जो तुम्हारे पाखंड
फुटपाथों पर
बिकते हैं,
और तुम्हारे
लुभावने चश्मे
मेरा दर्शन कोण
कम करते है !!
                       -सिद्धांत  (मार्च १५,२०१२ ९:३१ पी एम )
                                        Copyright 

0 comments:

Post a Comment