300x250 AD TOP

Followers

Popular Posts

Featured slider

Monday, 6 February 2012

Tagged under:

राजनीति








राजनीति,
एक प्रदूषित क्षेत्र,
जहाँ, 
एक श्वेत कपोत भी, 
काक नजर आता है,
और, 
खो जाता है, 
स्याह से गलियारों में,
जैसे काजल, 
कोयले में छिप जाती है I
खो जाता है,
उसका अस्तित्व,
उसका स्वाभिमान,
खो जाता है,
उसका ईमान,
उसकी भक्ति,
जैसे, 
रेगिस्तान की, 
धूल भरी आँधियों में, 
वृक्ष से गिरा पत्ता,
खो जाता है II
                 - सिद्धांत 

0 comments:

Post a Comment